शौक़-ए-तेज़-रवी है कि आसमान बरहम है।

Shayari Social Quotes Thought Quote
107
73915